• Newziya

विशाखापत्तनम में गैस रिसाव की घटना से हैरान और दुखी: दक्षिण कोरिया

शुरुआती घंटों में विशाखापत्तनम में आर आर वेंकटपुरम गांव में एलजी पॉलिमर केमिकल प्लांट से जहरीली स्टाइरीन गैस के रिसाव के कारण कम से कम 11 लोग मारे गए और लगभग 1,000 बीमार हो गए।

गुरुवार को साउथ कोरिया ने विशाखापत्तनम में हुई गैस लीक की घटना पर दुख ज़ाहिर किया है। आपको बता दें कि संयंत्र का स्वामित्व दक्षिण कोरियाई पेट्रोकैमिकल कंपनी एलजी केम. के पास है। दक्षिण कोरियाई राजदूत शिन ने कहा कि 'वेंकटपुरम में एलजी पॉलिमर प्लांट में हुए हादसे की खबर से मैं स्तब्ध और दुखी हूं।' ’’ उन्होंने एक बयान में कहा, ‘‘यह एक बेहद दुर्भाग्यपूर्ण घटना थी और इस दुखद घटना से प्रभावित लोगों के प्रति हमारी गहरी संवेदना है। हम बीमार हुए लोगों के शीघ्र स्वस्थ होने की प्रार्थना करते हैं।’’


साभार: इंटरनेट


कंपनी की वेबसाइट के अनुसार संयंत्र की स्थापना 1961 में हिंदुस्तान पॉलिमर्स के रूप में की गई थी। इसे जुलाई 1997 में एलजी केम द्वारा नियंत्रण में ले लिया गया था और एलजी पॉलिमर्स इंडिया प्राइवेट लिमिटेड (एलजीपीआई) नाम देकर फिर से शुरू किया गया था। वहीं एलजी केम लिमिटेड ने कहा कि गैस रिसाव को नियंत्रित कर लिया गया है और कंपनी दुर्घटना की जांच कर रही है।

एक बयान में कहा गया कि, ‘‘गैस रिसाव अब नियंत्रण में है लेकिन रिसाव हुई गैस से लोगों को मिचली आने और चक्कर आने की दिक्कत हो सकती है।

राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) के महानिदेशक एस एन प्रधान ने कहा कि गैस रिसाव के कारण 11 लोगों की जान चली गई है और 20-25 लोग गंभीर स्थिति में हैं। विशाखापत्तनम पुलिस ने कहा कि 'विशाखापत्तनम के किंग जॉर्ज अस्पताल में गंभीर रूप से अस्वस्थ्य 246 लोगों का इलाज चल रहा है।


ये भी पढ़ें: https://www.newziya.com/post/nasa-confirms-tom-cruise-make-movie-aboard-iss-elon-musk-spacex


#दक्षिण_कोरियाई_पेट्रोकैमिकल_कंपनी #दक्षिण_कोरियाई_कंपनी #गैस_रिसाव #Visakhapatnam_Gas_Leak

©Newziya 2019, New Delhi.