• Vishwajeet Maurya

"अलीगढ़ हत्याकांड" की जांच NSA के तहत होगी-

अलीगढ़ के टप्पल इलाके में ढाई साल की बच्ची की हत्या के मामले में पुलिस ने रुख साफ करते हुए कहा है कि, 'हम इस मामले की जांच राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत करेंगे और इस केस को फ़ास्ट ट्रैक कोर्ट में भेजेंगे'.


एक ढाई साल की बच्ची की इतनी बेरहमी से हत्या कर दी गई, इतनी घिनौनी और भयावह वारदात के पीछे की वजह महज मृत बच्ची के पिता द्वारा 10,000 रुपये का लिया गया कर्ज़ था. जब वो उसे नही चुका पाया तो आरोपियों ने बच्ची को अगवा कर लिया. तीन दिन बाद घर के पास के कूड़ाघर में बच्ची का शव मिला. पोस्टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक बच्ची की हत्या गला घोंटकर की गई और फिर शव के साथ बर्बरता कर कूड़े में फेंक दिया गया था. पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है.


वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कुलहरि ने बताया कि मामला दो समुदायों से जुड़ा होने की वजह से मौके पर बड़े पैमाने पर पुलिस बल को तैनात किया गया है. आकाश कुलहरि ने गुरुवार को बताया था कि गत 31 मई को टप्पल से लापता 3 साल की बच्ची का शव गत 2 जून को उसके घर के पास एक कूड़े के ढेर में दबा पाया गया था. बच्ची के पिता की शिकायत पर जाहिद और असलम नामक व्यक्तियों को गिरफ्तार किया गया था.


उनसे पूछताछ में पता चला है कि दोनों आरोपियों का बच्ची के पिता से धन के लेन-देन को लेकर झगड़ा हुआ था. कुलहरि ने बताया कि बच्ची की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में बच्ची से रेप की बात सामने नही आई है. उसकी गला दबाकर हत्या की गई है. उन्होंने कहा कि वारदात की गंभीरता को देखते हुए दोनों अभियुक्त पर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून लगाए जाने की कार्यवाही शुरू कर दी गई है. मामले की फ़ास्ट ट्रैक अदालत में सुनवाई कराये जाने की भी प्रकिया शुरू की गयी है.


इस बीच बच्चे के पिता ने दोषियों को फांसी देने की मांग की है. उनके मुताबिक बेटी की हत्या जाहिद के घर पर हुई थी. ऐसे में जाहिद की पत्नी और उसके भाई को भी गिरफ्तार किया जाना चाहिए. उन्होंने कहा कि 24 घंटे में सभी की गिरफ्तारी नहीं हुई तो वह थाने में परिवार के साथ आत्मदाह कर लेंगे. इससे पहले मृतक बच्ची के परिजनों ने बच्ची के साथ दुष्कर्म के बाद हत्या किए जाने का आरोप लगाते हुए सड़क जाम कर दिया था. घटना की सूचना मिलते ही आला अधिकारी मौके पर पहुंचे और हालात को किसी तरह काबू में किया.


-Govind Pratap Singh

17 views

©Newziya 2019, New Delhi.