• Vishwajeet Maurya

जन्मदिन विशेष Happy Birthday महेश भूपति-

Updated: Sep 4, 2019

अपने देश में क्रिकेट के खेल को सबसे ज्यादा लोकप्रिय माना जाता है और आज कल क्रिकेट का महाकुम्भ भी जारी है वो भी लन्दन में. वैसे ही एक खेल है टेनिस . अपने यहाँ इसे अमीरों का खेल कहा जाता है, जैसे गोल्फ को लेकर धारणा है न बस वैसी ही.. टेनिस के एक खिलाडी है महेश भूपति, तो आज बर्थडे है उनका, भूपति का एक रिकार्ड है कि वो कोई भी ग्रैंड स्लैम टूर्नामेंट जीतने वाले पहले इंडियन प्लेयर हैं . वो जिसे रॉजर फेडरर ने कभी दुनिया के सबसे बेहतरीन टेनिस प्लेयर्स में से एक कहा था. यहाँ तक कि लाल बजरी के बादशाह राफेल नडाल भी जिसे टेनिस का बेहतरीन प्लेयर मानते हैं, महेश भूपति का जन्म 7 जून 1974 को मद्रास में हुआ। इनका पूरा नाम है महेश श्री निवास भूपति, 14 वर्ष की उम्र में अंतराष्ट्रीय टेनिस करियर की शुरुआत करने वाले भू‍पति ने अपनी मेहनत से टेनिस में कई खिताब अपने नाम किए।


महेश भूपति और लिएंडर पेस की जोड़ी को लोग इंडियन एक्सप्रेस के नाम से जानते हैं. दोनों के नाम रिकार्ड तो इतने हैं कि हम बताते हुए भी थक जायेंगे लेकिन तब भी मामला अपने अंदाज़ वाला होगा यानि फेहरिस्त लम्बी है, लिएंडर पेस के साथ मिलकर उन्होंने तीन डबल्स खिताब जीते हैं जिनमें 1999 का विबंलडन का खिताब भी शामिल है। साल 1999 भूपति के लिए स्वर्णिम वर्ष साबित हुआ क्योंकि इसमें उन्होंने अमेरिकी ओपन मिश्रित खिताब जीता और फिर लिएंडर पेस के साथ रोलां गैरां और विंबलडन समेत तीन युगल ट्राफी अपने नाम की। 1994-1995 में मिसीसिपी यूनीवर्सिटी में उसका दो वर्ष का शानदार कैरियर रहा । उसने ऑल अमेरिका का एकल व युगल खिताब 1995 में जीता । अली हमदेह के साथ जोड़ी बनाकर 1995 में एन.सी.सी.ए. की युगल चैंपियनशिप जीती ।


जब लिएंडर ने 1996 में भूपति के साथ युगल वर्ग का ग्रैंड स्लैम खिताब जीतने की भविष्यवाणी की थी, तब उसका अच्छा-खासा मजाक बनाया गया और उसे छोटा मुंह बड़ी बात कहा गया क्योंकि उस समय इनकी जोड़ी विश्व क्रम में 80वें क्रम पर थी । परन्तु दोनों ने हिम्मत नहीं हारी और सफलता के शिखर पर चढ़ते चले गए । इसके पूर्व किसी भारतीय जोड़ी का एक या दो राउंड जीतना ही बहुत बड़ी बात समझी जाती थी । लेकिन लिएंडर और महेश भूपति की जोड़ी ने आठ ग्रैंड स्लैम टूर्नामेंटों में से सात के सेमीफाइनल में प्रवेश किया, फिर उसके बाद पेस की कही बात सच साबित हुई जब इस युगल जोड़ी ने 1999 के फ्रेंच व विंबलडन खिताब जीते । हालांकि ग्रैंड स्लैम के पहले पड़ाव आस्ट्रेलियाई ओपन के फाइनल में कड़े संघर्ष में इनकी जोड़ी हार गयी । महेश और पेस सभी ग्रैंड स्लैम टूर्नामेंटों के फाइनल में पहुंचने वाली पहली युगल जोड़ी बने थे। साल 1999 में ही दोनों को युगल की विश्व रैंकिंग में पहली भारतीय टीम बनने का गौरव हासिल हुआ। ओपन युग में 1952 के बाद यह पहली उपलब्धि थी।


हालांकि बीच के सालों में महेश भूपति और लिएंडर पेस के बीच कुछ मतभेद हो गए जिसकी वजह से दोनों ने एक-दूसरे के साथ खेलना बंद कर दिया, लिएंडर पेस ने मतभेदों के बाद उन्होंने बेलारूस के मैक्स मिरनी के साथ जोड़ी बनाकर 2002 का यूएस ओपन का खिताब जीता। मिक्स डबल्स में भी उन्होंने 8 ग्रैंड स्लेम खिताब अपने नाम किए हैं। इनमें 2009 ऑस्ट्रेलियन ओपन और 2012 फ्रेंच ओपन में उनकी जोड़ीदार सानिया मिर्जा थी। 2008 के ऑस्ट्रेलियन ओपन में यह जोड़ी रनरअप रही थी।


मतभेदों के चलते इनकी पार्टनरशिप बहुत अच्छी से ठीक और फिर खराब होती चली गयी, जिसके लिए लोग पेस के पिता द्वारा दिए गए बयानों को भी मानतें है, 2008 आते-आते बीजिंग ओलंपिक्स के बाद से उन्होंने पुनः साथ-साथ खेलना शुरू कर दिया। बात करें महेश भूपति की तो उन के बारे में कहा जाता है कि वह लिंएडर पेस के विपरीत अन्तर्मुखी व संवेदनशील इंसान हैं । उस में जबर्दस्त पेशेवर परिपक्वता है । भूपति को कभी पेस के सरीखे नहीं देखा गया क्योंकि पेस की छवि चमकते सूर्य की थी तो वहीं भूपति चन्द्रमा की भांति थे . भूपति अपनी इस छवि में नहीं बंधना चाहते थे वो भी चाहते थे कि मेरा भी कद वैसा ही हो जैसा पेस का है, कई कोशिशों के बाद 2011 में दोनों मजबूती से दोबारा साथ आये. चेन्नई ओपन जीता. और ऑस्ट्रेलियन ओपन के फाइनल में पहुंच गए. उनकी नज़रें ओलम्पिक पर थीं. मगर साथ आने की कोशिश लॉन्ग-टर्म में सफ़ल नहीं हो पायी.

अक्सर ही अपने खेल की वजह से चर्चा में रहने वाले महेश त‍ब और चर्चा में रहे जब उनका दिल पूर्व मिस यूनिवर्स लारा दत्ता पर आ गया था। पहले से शादीशुदा महेश ने फाइनली लारा को अपनी जीवन संगिनी भी बनाया। इनकी एक बेटी भी है,नाम है सायरा भूपति. देश के लिए पहला ग्रैंड स्लैम जीतने वाले टेनिस प्‍लेयर महेश भूपति और बॉलीवुड अभिनेत्री व पूर्व मिस यूनिवर्स लारा दत्ता और दोनों को दुनिया आज पति-पत्नी के तौर पर जानती है। वहीं शादी से पहले इनकी लवस्टोरी भी काफी चर्चा में रही। दोनों के साथ होने की दास्ताँ भी किसी फ़िल्मी कहानी से कम नहीं है। जब लारा दत्ता साल 2000 में यूनिवर्स बनीं थीं उस समय इन्‍हें देखते ही महेश भूपति को इनसे प्यार हो गया था।


इसके बाद दोनों की मुलाकात महेश की एंटरटेंनमेंट और स्पोर्ट्स मैनेजमेंट कंपनी को लेकर हुई एक बिजनेस मीटिंग के दौरान हुई। दरअसल लारा दत्ता ने महेश की कंपनी को अपने काम का मैनेजमेंट देखने के लिए कहा था। हालांकि इस वक़्त महेश भूपति श्वेता जयशंकर के पति बन चुके थे, लेकिन ये शादी ज्यादा दिन नहीं चल पाई थी। आखिरकार महेश भूपति और श्वेता जयशंकर की शादी फाइनली 2010 में टूट गई।

इसके बाद महेश और लारा के बीच मुलाकातें बढ़ने लगीं और ये दोनों एक दूसरे को डेट करने लगे। हालांकि ये दोनों लगातार इस बात को छुपा रहे थे लेकिन अचानक से एक दि‍न फाइनली अमेरिका में एक कैंडल लाइट डिनर के दौरान महेश भूपति ने लारा को अंगूठी पहनाकर प्रपोज किया। बता दें कि महेश ने उनको पहनाई हुई ये अंगूठी खुद ही डिजाइन की थी। ये वो वक़्त था जब महेश यूएस ओपन खेलने न्यू यार्क गए हुए थे।

लेकिन जब तक दोनों ने ऑफीशियली सगाई नहीं कर ली, तब तक दोनों ने मीडिया के सामने खुद को सिर्फ अच्छा दोस्त ही बताया। उसके बाद एक दिन अचानक दोनों सबके सामने एकदूसरे का हाथ थामकर जीवनसाथी बनकर खड़े हो गए। वहीं बता दें कि लारा के लिए भी महेश भूपति कोई पहला क्रश नहीं थे। इससे पहले केली दोरजी, टाइगर वुड्स और डीनो मारिया जैसे लोगों के साथ इनका नाम जुड़ चुका था।

खैर जो भी हो महेश भूपति एक अच्छे खिलाड़ी होने के साथ अच्छे व्यक्तित्व के मालिक भी है...तो उन्हें जन्मदिन की ढेर सारी शुभकामनाएं.

0 views

©Newziya 2019, New Delhi.