• Newziya

तीन तलाक के बाद अब निकाह हलाला पर वार, BJP ने किया खत्म करने का वादा


Reference Image

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में भारतीय जनता पार्टी मुस्लिम महिलाओं के लिए तीन तलाक प्रथा को खत्म करने की बात करती रही है. लेकिन इस बार पार्टी की ओर से निकाह हलाला पर रोक की बात भी की गई है


तीन तलाक के बाद अब निकाह हलाला पर वार, BJP ने किया खत्म करने का वादा अबकी बार निकाह हलाला पर वार-


भारतीय जनता पार्टी ने अपने संकल्प पत्र में कई बड़े ऐलान किए हैं. इनमें कई वादे ऐसे भी हैं जिनपर मौजूदा समय में लगातार चर्चा चल रही है. BJP ने वादा किया है कि अगर वह फिर से सत्ता में आती है तो निकाह हलाला की प्रथा पर रोक लगाने के लिए कानून पारित करेगी. पार्टी पहले ही तीन तलाक को खत्म करने के लिए विधेयक ला चुकी है, हालांकि ये अभी तक राज्यसभा से पास नहीं हो पाया है.


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में भारतीय जनता पार्टी मुस्लिम महिलाओं के लिए तीन तलाक प्रथा को खत्म करने की बात करती रही है. लेकिन इस बार पार्टी की ओर से निकाह हलाला की बात भी की गई है.


अपने घोषणापत्र में भाजपा ने लिखा है, ‘हमने महिलाओं के संपूर्ण विकास और लिंग समानता को सुनिश्चित करने के लिए ठोस कदम उठाया है. हम तीन तलाक और निकाह हलाला जैसी प्रथाओं के उन्मूलन और उनपर रोक लगाने के लिए कानून पारित करेंगे।


गौरतलब है कि तीन तलाक के मुद्दे पर कई मुस्लिम संगठन और विपक्षी पार्टियां भारतीय जनता पार्टी को घेरती आई हैं. बीजेपी ने अपने प्रस्तावित बिल में तीन तलाक देने वाले पति को सजा की बात कही थी, जबकि कई दलों ने इस शर्त का विरोध किया था.


हालांकि, लोकसभा में तीन तलाक बिल पारित हो चुका है, जहां पर भारतीय जनता पार्टी के पास बहुमत था. लेकिन राज्यसभा में ये बिल पास नहीं हो सका था, ऊपरी सदन में सरकार के पास बहुमत नहीं था. राज्यसभा में कांग्रेस समेत कई विपक्षी दलों ने कई क्लॉज़ पर सवाल उठाए थे.


क्या है निकाह हलाला?


मौजूदा मुस्लिम पर्सनल लॉ के प्रावधानों के मुताबिक अगर किसी मुस्लिम महिला का तलाक हो चुका है और वह उसी पति से दोबारा निकाह करना चाहती है, तो उसे पहले अन्य शख्स से शादी कर उसके साथ संबंध बनाना होगा. फिर अन्य शख्स को तलाक भी देना होगा. इस पूरी प्रक्रिया को निकाह हलाला कहा गया है।


-Vishwajeet Maurya

©Newziya 2019, New Delhi.