• Vishwajeet Maurya

जानिए, कोरोना वायरस के कारण क्या है दुनिया के हाल ?

दुनिया में अब तक 23 लाख 30 हजार से ज्‍यादा मामले. अमेरिका में अब तक कोरोना के 7,38,792 मामले सामने आ चुके हैं और अब तक 39,014 की मौत हो चुकी है. वहीं दूसरी तरफ ब्रिटिश वैज्ञानिकों ने किया दावा किया है कि कोरोनावायरस की वैक्सीन सितंबर में आ जाएगी.


-Govind Pratap Singh


दुनिया भर में कोरोना वायरस संक्रमण के नए मामले शनिवार को भी काफी तेजी से बढ़े है. दुनिया में 23 लाख 30 हजार सात सौ से ऊपर मामले सामने आ चुके हैं. इसके बावजूद यह संख्‍या लगातार बढ़ती जा रही है. वहीं अब तक 1 लाख 60 हजार 747 लोग अब तक इस संक्रमण का शिकार बन चुके हैं. यूरोप में कोरोना महामारी की वजह से मरने वालों की संख्या एक लाख से अधिक हो गई है.

वहीं स्पेन में 9 मई तक लॉकडाउन बढ़ा दिया गया है. इसके अलावा न्‍यूयॉर्क में भी 15 मई तक लॉकडाउन बढ़ाया गया है.


स्पेन में कोरोना वायरस से मौत का आंकड़ा 20,639 पर पहुंचा

स्पेन में कोरोना वायरस से मौत का आंकड़ा 20,639 पर पहुंचा, अब तक सामने आए 194,416 मामले स्पेन में पिछले 24 घंटों में कोरोनावायरस की वजह से 637 लोगों की मौत हो गई है. इसी के साथ स्पेन में मरने वालों की संख्या 20,639 पर पहुंच गई है. यूरोप में इटली के बाद सबसे ज्यादा स्पेन में लोगों की कोरोनावायरस की वजह से मौत हुई है.


अमेरिका में अब तक कोरोना के 7,38,792 मामले और 39,014 की मौत.

अमेरिका इस महामारी से लगातार जूझ रहा है. यहां अब तक कोरोना के 738,792 मामले सामने आ चुके हैं. वहीं इससे अब तक 39,014 की मौत हो चुकी है. हालांकि न्‍यूयॉर्क में शनिवार को मरने वालों का आंकड़ा कम रहा. न्‍यूयॉर्क के गवर्नर एंड्रयू कुओमो ने इस बात को स्‍पष्‍ट किया है कि कोरोना का असर कम होता दिखाई दे रहा है. ऐसा इसलिए भी कहा गया, क्‍योंकि अस्‍पतालों में इस वायरस से संक्रमित होने वालों की तादाद में कमी आई है. वहीं ट्रंप ने बीजिंग पर वायरस के प्रभाव को कम करके बताने का आरोप लगाया.


ट्रंप ने लॉकडाउन के विरोध का समर्थन किया

अमेरिका के तीन राज्यों में लॉकडाउन हटाने की मांग की गई है. सबसे ज्‍यादा लोग मिशिगन में जमा हुए और इनमें से कुछ लोगों के पास हथियार भी थे. गौरतलब है कि अमेरिकी राष्‍ट्रपति ट्रंप ने बंद में छूट देने का फैसला ज्यादातर राज्य के अधिकारियों पर छोड़ा है. इसके लिए उन्‍होंने चरणबद्ध तरीके से इस बंद को खोलने के लिए निर्देशों की रूपरेखा तैयार की है.

इमरान ने लगाया कोरोना का असर कम होने का अनुमान.

पाकिस्‍तान में प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा है कि कोरोना को लेकर अप्रैल महीने में इसके मामले लगभग 50 हजार तक पहुंचने का अनुमान लगाया गया था, लेकिन अब राहत देने वाली खबर यह है कि अब यह अनुमान 15 हजार लगाया गया है. वहीं पाकिस्‍तान में अब तक 148 लोगों की र्मौत हो चुकी है और इसके अब तक 7, 918 मामले सामने आ चुके हैं. हालांकि 1, 832 लोग सेहतमंद भी हुए हैं. पाकिस्तान के राष्ट्रपति डॉ. आरिफ अल्वी ने धर्मगुरुओं और सभी प्रांतों के सियासी नुमाइंदों के साथ हुई बैठक के बाद इसका ऐलान किया. अल्वी ने कहा कि नमाज के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल रखा जाएगा.इमरान सरकार के सामने बड़ी मुश्किल उन कट्टरपंथी मौलवियों की वजह से आ रही है जो कि किसी भी सूरत में लॉकडाउन का पालन नहीं कर रहे हैं.

सरकार तमाम धर्मगुरुओं और मौलवियों को मस्जिद में सामूहिक नमाज़ पढ़ने से रोकने की कोशिश करती आ रही थी. लेकिन सामूहिक इबादत रोकने को लेकर मौलवी राज़ी नहीं हुए. जिसके बाद आखिरकार सरकार को इनके सामने झुकना पड़ा और रमजान के पवित्र मौके पर मस्जिद में सामूहिक नमाज़ पढ़ने की इजाज़त देनी पड़ी.


ब्रिटिश वैज्ञानिकों ने किया दावा : सितंबर में आ जाएगी वैक्‍सीन

कोरोना वायरस से जूझती दुनिया को इसके प्रकोप से निजात दिलाने के लिए वैज्ञानिक इसकी वैक्‍सीन की खोज में लगे हुए हैं. अब इस संबंध में ब्रिटेन के वैज्ञानिकों ने दावा किया है कि इस साल सितंबर तक कोरोना की वैक्‍सीन आ जाएगी. ब्रिटेन में अब तक 114,217 मामले सामने आ चुके हैं. वहीं इससे अब तक 15,464 लोगों की मौत हो चुकी है. वहीं देश में बढ़ते कोरोना वायरस की वजह से क्‍वीन एलिजाबेथ ने अपना 94वां जन्‍मदिन समारोह रद्द कर दिया है.

9 views

©Newziya 2019, New Delhi.