• Vishwajeet Maurya

35 लाख की रिश्वत लेने के आरोप में महिला सब-इंस्पेक्टर गिरफ्तार

अहमदाबाद महिला सब-इंस्पेक्टर श्वेता जड़ेजा को गिरफ्तार कर तीन दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया गया है। अहमदाबाद महिला पुलिस स्टेशन की इंचार्ज श्वेता जड़ेजा के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है।

-Govind Pratap Singh



गुजरात के अहमदाबाद में एक रेप के आरोपी से 35 लाख रुपये  रिश्वत लेने के आरोप में एक महिला पुलिस सब-इंस्पेक्टर को गिरफ्तार किया गया है। महिला सब-इंस्पेक्टर  को पुलिस की विशेष ऑपरेशन समूह (SOG) ने गिरफ्तार किया था। एसओजी सूत्रों ने कहा कि सीजी रोड पर अंगद कार्यालय के माध्यम से महिला पुलिस को घूस दी गई थी।

महिला पुलिस सब-इंस्पेक्टर की गिरफ्तारी के बाद उसे कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उसको तीन दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया गया। आरोपी महिला सब-इंस्पेक्टर का नाम  श्वेता जड़ेजा है। जो कि अहमदाबाद की महिला पुलिस स्टेशन की इंचार्ज थी। 


महिला सब-इंस्पेक्टर श्वेता जड़ेजा


जानिए क्या है पूरा विवाद

महिला सब-इंस्पेक्टर श्वेता जड़ेजा पर रेप के आरोपी से 35 लाख रुपये की रिश्वत लेने के आरोप में एफआईआर (FIR) दर्ज की गई है। एफआईआर में लिखा गया है कि अहमदाबाद की एक निजी कंपनी की दो महिला कर्मचारियों ने कंपनी के प्रबंध निदेशक केनल शाह के खिलाफ रेप का मामला दर्ज करवाया था। 


इसी पूरे मामले में कंपनी के सुरक्षा विभाग ने अहमदाबाद के सैटेलाइट थाने में शिकायत दर्ज करवाई थी। जिसपर जिले के क्राइम ब्रांच ने केस भी दर्ज किया। मामले की जांच में महिला सब-इंस्पेक्टर श्वेता जड़ेजा भी शामिल थी। 


पहले 20 लाख फिर 15 लाख, महिला सब-इंस्पेक्टर ने लिए रिश्वत 

श्वेता जड़ेजा ने केनल शाह के भाई भावेश को बुलाकर रिश्वत की मांगी थी और दोनों के 20 लाख रुपये में बात बनी थी। जिसके बाद सब-इंस्पक्टर श्वेता जड़ेजा के किसी पहचान वाले को 20 लाख की रकम दी गई। जिसके बाद आरोपी केनल शाह के खिलाफ रेप का एक और केस दर्ज हो गया। जिसके बाद सब-इंस्पक्टर श्वेता जड़ेजा ने फिर से 20 लाख रिश्वत मांगी लेकिन इस बार बात 15 लाख में तय हुई। रिश्वत की रकम बाद में आंगड़िया के जरिए जमजोधपुर में  महिला पुलिस के किसी जानने वाले को दी गई। 

श्वेता जड़ेजा ने आरोपी को रिश्वत के लिए दी धमकी 

रेप केस के जांच के दौरान महिला पुलिस थाने की इंचार्ज श्वेता जड़ेजा ने रेप के आरोपी, यानी कंपनी के प्रबंध निदेशक केनल शाह से 35 लाख रुपये की रिश्वत मांगी। महिला सब-इंस्पेक्टर श्वेता जड़ेजा ने आरोपियों को धमकी दी कि अगर उन्हें 35 लाख रुपये रिश्वत नहीं दी गई तो  तो आरोपी के खिलाफ कड़ी कानूनी कार्रवाई होगी। 


कैसे गिरफ्त में आई महिला सब-इंस्पेक्टर श्वेता जड़ेजा

रिपोर्ट के मुताबिक इसी दौरान आरोपी के भाई भावेश ने एक शिकायत पुलिस को दे दी थी, जिसकी जांच में रिश्वत लेने वाली बात सामने आई। क्राइम ब्रांच के जॉइंट पुलिस कमिश्नर अजय तोमर के मुताबिक, जब पूरे मामले की जांच की गई, तो उसमें कुछ सच्चाई सामने आई, कुछ तथ्य मिले। जिसके बाद श्वेता जड़ेजा के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई। इस पूरे मामले की जांच अब स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप के एसीपी बीसी सोलंकी को सौंपी गई है. आरोपी पुलिस अधिकारी का बयान दर्ज कर लिया गया है। सब-इंस्पेक्टर श्वेता जड़ेजा के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है।


#RapeCase #Rape #Gujrat #ahmedabad #womansubinspector

#Police #News #arrested #rapeaccused #35lakhsrupeesbribe

ये भी पढ़ें: कानपुर मुठभेड़: हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे के आपराधिक जीवन का पूरा कच्चा चिट्ठा

ये भी पढ़ें: कानपुर एनकाउंटर: विकास दुबे सहित 35 लोगों पर दर्ज हुई FIR, रात भर चली छापेमारी


ये भी पढ़ें:बोत्सवाना में रहस्यमयी तरीके से सैकड़ों ‘हाथियों’ की मौत

ये भी पढ़ें: भारत बायोटेक ने बनाई Coronavirus की वैक्सीन, जुलाई में शुरू होगा Human Trials

0 views

©Newziya 2019, New Delhi.