• Vishwajeet Maurya

हिमाचल प्रदेश की 91 तहसीलों में मारे जाएंगे बंदर, सरकार ने जारी की अधिसूचना.

हिमाचल प्रदेश के लिए केंद्र सरकार ने एक अधिसूचना जारी की है, जिसके अनुसार प्रदेश की 91 तहसीलों में रीसस मकाक (मकाका मुलाटा) प्रजाती के बंदरों को मारा जाएगा।


-Govind Pratap Singh


हिमाचल सरकार ने वनों से बाहर के क्षेत्रों में रीसस मकाक बंदरों की अत्यधिक संख्या के कारण बड़े पैमाने पर खेती के प्रभावित होने सहित जीवन व संपत्ति की हानि की रिपोर्ट केंद्र सरकार को भेजी थी। उसके आधार पर केंद्रीय मंत्रालय ने यह अधिसूचना जारी की है।


अधिसूचना के अनुसार इन बंदरों को केवल निजी भूमि में नुकसान करने पर ही मारा जा सकता है। सरकारी भूमि में बंदरों को नहीं मारा जा सकेगा। प्रदेश की पैदावार पर संकट बने रीसस मकाक प्रजाती के बंदरों को मारने की मंजूरी सरकार ने दे दी है। केंद्र सरकार की इस अधिसूचना के बाद मंडी जिला की 10 तहसीलों समेत प्रदेश की 91 तहसीलों के किसानों-बागवानों ने राहत की सांस ली है।


ये मंजूरी पहले भी थी, इसे एक साल के लिए बढ़ा दिया है। बंदर मारने के तुरंत बाद नजदीक के वन अधिकारी-कर्मचारी को इसकी जानकारी उपलब्ध करवानी होगी। यह अनुमति एक वर्ष तक के लिए रहेगी। इस संबंध में केंद्रीय पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय ने अधिसूचना जारी कर दी है।


डीएफओ मंडी एसएस कश्यप ने बताया कि हिमाचल में 91 तहसीलों में रीसस मकाक बंदरों को पीड़क जंतु घोषित किया गया है। इनमें मंडी जिला की 10 तहसीलें भी शामिल हैं। इनमें मंडी, चच्योट, थुनाग, करसोग, जोगिंद्रनगर, पधर, लड़भड़ोल, सरकाघाट, धर्मपुर और सुंदरनगर को शामिल किया गया है। इन 10 तहसीलों में निजी भूमि में नुकसान करने पर रीसस मकाक बंदरों को मारा जा सकता है। उसके तुरंत बाद इस बारे नजदीक के वन अधिकारी-कर्मचारी को जानकारी उपलब्ध करवानी होगी। डीएफओ एसएस कश्यप ने इसकी पुष्टि की है। उन्होंने कहा कि रीसस मकाक बंदरों को सरकारी व वन भूमि में मारने की अनुमति नहीं होगी।


#Governmentorder #Government #monkey #notification

#forestdepartment #centralgovernment #monkeykills

ये भी पढ़ें: नहीं रहे छत्तीसगढ़ के सपनों के सौदागर "अजित जोगी" ये भी पढ़ें: वायरल: देखिये कानपुर जीएसवीएम की प्राचार्य का धार्मिक नफरत फैलाने वाला वीडियो

ये भी पढ़ें: राजकोट नगर निगम ने कोरोना पॉजिटिव लोगों की जानकारी गूगल मैप्स पर लिस्ट करी

46 views

©Newziya 2019, New Delhi.