• Newziya

पाकिस्तान पर भारत का पलटवार

पुलवामा में हुए भीषण आत्मघाती हमले से भारत आहत है. एक साथ 44 जवानों का शहीद हो जाना. किसी भी आतंकी हमले में अब तक की सबसे बड़ी क्षति है. पाकिस्तान को सबक सिखाने के लिए व्याकुल भारत ने पलटवार की शुरुआत कर दी है. पहला हमला हुआ है पाकिस्तान के व्यापार पर. भारत ने पाकिस्तान को मोस्ट फेवर्ड नेशन देशों की सूची से हटा दिया है.


भारत पाक के राष्ट्रीय ध्वज

विश्व व्यापार संगठन (World Trade Organization) उस संस्था का नाम है जो दुनिया भर के व्यापार को नियन्त्रित करती है. दुनिया के 164 देश इसके सदस्य हैं. दुनिया का 98% व्यापार विश्व व्यापार संगठन के नियमों के अनुसार ही होता है. इसी संगठन के नियम जनरल एग्रीमेंट टैरिफ एंड ट्रेड (GATT) के अनुच्छेद 1 के अनुसार WTO के सदस्य देश अन्य सदस्य देशों को मोस्ट फेवर्ड नेशन का दर्ज़ा देते है. इसके तहत दर्ज़ा प्राप्त देशों के साथ व्यापार में किसी प्रकार का कोई भेदभाव नहीं किया जाता है. पाकिस्तान पहले ही आर्थिक संकट से घिरा हुआ है. दुनिया भर के कर्ज़ तले दबा हुआ है. ऐसे में भारत का उसे मोस्ट फेवर्ड नेशन से बाहर करना कड़ा क़दम है.


सांकेतिक तस्वीर साभार : इंटरनेट

भारत ने पकिस्तान को 1996 में ही मोस्ट फेवर्ड नेशन का दर्ज़ा दिया था, लेकिन पाकिस्तान ने भारत को कभी मोस्ट फेवर्ड नेशन का दर्ज़ा नहीं दिया. बल्कि उसने भारत से non discriminatory access agreement किया है. जिसमें पाकिस्तान भारत से आयात होने वाले 1950 उत्पादों पर टैरिफ नहीं लगाता है. इसके अलावा पाकिस्तान ने भारत से आयात होने वाले 1209 उत्पादों पर रोक लगा रखी है. जबकी भारत ने पाकिस्तान के तमाम उत्पादों पर टैरिफ घटा रखे हैं. 2 नवंबर, 2011 को पाकिस्तान की कैबिनेट ने भी भारत को मोस्ट फेवर्ड नेशन का दर्ज़ा देने का फैसला लिया था लेकिन आज तक यह फैसला लागू नहीं हो सका है. उरी अटैक के बाद ही भारत पाकिस्तान से मोस्ट फेवर्ड नेशन का दर्ज़ा छीनने पर विचार कर रहा था. तब बात आई गई हो थी लेकिन कल के हमले के बाद भारत को यह फैसला लेना पड़ा. इस समय भारत और पाकिस्तान के बीच 17,200 करोड़ का सालाना व्यापार हो रहा है. लेकिन अब पाकिस्तान से मोस्ट फेवर्ड नेशन का दर्ज़ा छीनने के बाद इस व्यापार में तेज़ी से गिरावट देखने को मिलेगी. जो तंगहाली से जूझ रहे पाकिस्तान के लिए बुरी ख़बर है.

#indopak #pulwama #mostfavourednation #wto #trade #attack #terrorism

©Newziya 2019, New Delhi.