• Newziya

पुलवामा आतंकी हमले पर जेएनयू में प्राध्यापक, कर्मचारियों और छात्रों द्वारा श्रद्धांजलि रैली

जेएनयू ने पुलवामा में हुए कायराना आतंकी हमले की भर्त्सना करते हुए इसे राष्ट्र की एकता और अखंडता पर हमला करार दिया। इस हमले के विरोध में आज जेएनयू में आज शाम 4 बजे गंगा ढाबा से साबरमती ढाबा तक राष्ट्रवादी नारे लगाते हुए श्रद्धांजलि मार्च निकला। साबरमती ढाबा पर शहीद हुए जवानों को श्रद्धांजलि अर्पित किया और घायल हुए जवानों के जल्दी ठीक होने की कामना की। जेएनयू समुदाय ने यहां सरकार द्वारा पाकिस्तान से मोस्ट फ़ेवर्ड नेशन का दर्जा छिनने का स्वागत किया है और अपील की कि पाकिस्तान के खिलाफ सख्त से सख्त कार्यवाही की जाए।


Reference Image


अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद जेएनयू इकाई के अध्यक्ष दुर्गेश कुमार ने कहा कि जेनएयू कैंपस में जब कभी सैनिकों की शहादत होती थी तो यहां के वामपंथी खुशी मानते थे, लेकिन अब सैनिकों की शहादत पर भारत माता की जय और अमर बलिदानियों के जय जयकार के नारे लागते है । पूरा जेएनयू अमर बलिदानियों के परिवारों के साथ है था हमारी पूरी सहानुभूति उनके साथ है । इसके साथ ही उन्होंने जवानों के परिवारों को हरसंभव सरकारी मदद की मांग की और कहा कि अभाविप देश के जवानों और उनके परिवारों के साथ खड़ा है।


इकाई मंत्री मनीष जांगिड़ ने कहा कि अब जेएनयू बदल रहा है । आज जेएनयू सेना के साथ खड़ा है । अब समय आ गया है कि पाकिस्तान को उसकी भाषा मे समझने की जरूरत है । देश की जनता में बहुत आक्रोश है । कृतज्ञ राष्ट्र केंद्र सरकार से मांग करता है कि जल्द जल्द पाकिस्तान के खिलाफ उचित कार्यवाही करें ।

©Newziya 2019, New Delhi.