• Newziya

सर्वोच्च न्यायालय ने लगायी मायावती को फटकार!

Updated: Apr 5, 2019

सुश्री मायवती जी की 6 फरवरी की ट्विटर पर शुरुआत शुभ नहीं रही और 8 फरवरी को माननीय सर्वोच्च न्यायालय ने गच्चा दे दिया.

आनन्द श्रीवास्तव

मायावती साभार: PTI

2009 और 2012 की रविकांत और सुकुमार द्वारा दाखिल की गयी याचिका में सर्वोच्च न्यायालय में मुख्या न्यायाधीश रंजन गोगोई ने कहा की " मायावती ने सरकारी खजाने का गलत इस्तेमाल पार्टी सिंबल की मूर्ति लगवाने में किया है और उन्हें वो पैसे अब अपने जेब से भरने होंगे". हालाँकि सर्वोच्च न्यायालय ने फैसला नहीं दिया है और इस याचिका पे अगले सुनवाई 2 अप्रैल को होगी.


Supreme Court

सर्वोच्च न्यायालय की टिपण्णी आते ही विपक्ष ने अपने तीर-कमान बरसाने शुरू कर दिए, गौरतलब है की गठबंधन में बसपा के साथी और सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव ने तंज कसते हुए कहा की बुआ जी ने सरकारी खजाने से 40,000 करोड़ खर्च किये थे और सरकारी खजाने का पैसा मूर्ति बनवाने में पानी की तरह बहाया था, वही बसपा ने बचाव करते हुए कहा की ये केवल एक टिपण्णी मात्र है कोई फैसला नहीं और वहीँ बसपा ने अपना पक्ष कोर्ट में रखते हुए कहा की केस की सुनवाई मई में चुनाव के बाद के लिए टाल दी जाए.

जो कुछ भी हो पर सर्वोच्च न्यायालय के रवैये को देख के लगता नहीं की बसपा और मायावती बख्शी जाने वालीं है.


#Mayawati #Newziya #SupremeCourt

©Newziya 2019, New Delhi.