• Vishwajeet Maurya

स्ट्रीट डॉग को पनाह देने वाली साक्षी शर्मा के वायरल वीडियो के पीछे का जानिए पूरा सच !

स्ट्रीट डॉग को पनाह देने वाली साक्षी शर्मा (Sakshi Sharma) ने स्थानीय बूचड़खाना चलाने वालों पर आरोप लगाया है कि पिछले कई महीनों से यहां के लोग मुझे परेशान कर रहे हैं, कुछ महीने पहले भी मेरे साथ मारपीट हुई और मुझे मारने की धमकी दी है.


-Govind Pratap Singh



सोशल मीडिया पर पिछले दो दिनों से एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें साक्षी शर्मा नाम की महिला ने स्थानीय बूचड़खाना चलाने वालों पर आरोप लगाया है कि पिछले कई महीनों से यहां के लोग मुझे परेशान कर रहे हैं. कुछ महीने पहले भी मेरे साथ मारपीट हुई और मुझे मारने की धमकी दी है. वीडियो को कई सारे वेरीफाईड हैंडल्स से शेयर किया गया, जिसके कारण यह वीडियो काफी ज्यादा हाईप क्रिएट हो गया.

आख़िर वीडियो में क्या कहा गया?



मध्य प्रदेश के इंदौर शहर पिप्लियाना स्क्वॉयर,तिलक नगर की साक्षी शर्मा नाम महिला ने अपने इंस्टाग्राम पर एक वीडियो शेयर किया है. इस वीडियो में महिला रोते हुए कह रही है कि ये मेरा आखिरी वीडियो है. महिला ने स्थानीय लोगों पर उत्पीड़न और धमकी देने का आरोप लगाया है. साथ ही पुलिस पर भी कार्रवाई नहीं करने का आरोप लगाया है. सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस ने महिला के आरोपों को नकार दिया है.


घर के बाहर ड्रग्स लेते हैं बदमाश

उन्होंने वीडियो में आगे कहा कि पिछले 10 महीनों से ये लोग मेरे घर के बाहर ड्रग्स ले रहे हैं. शाम 5 बजे के बाद इन लोगों ने मेरा घर से बाहर निकलना मुश्किल कर दिया है, जब मैंने इसकी शिकायत तिलक नगर पुलिस स्टेशन में की तो उन्होंने कहा कि ये सब इसलिए हो रहा है क्योंकि मेरे घर में कोई पुरुष नहीं हैं, मैं अविवाहित हूं और घर में कुत्ते हैं.


महिला ने वीडियो में दावा किया कि पुलिस ने उनकी शिकायत लिखने से मना कर दिया और सलाह दी कि मुझे शादी कर लेनी चाहिए. उन्होंने कहा, क्या मैने 40 आवारा कुत्तों को पनाह देकर कोई गुनाह कर दिया है.

महिला ने दावा किया कि बूचड़खाने चलाने वालों ने उसके कुत्ते की हत्या कर दी थी और शव पोस्टमार्टम के बाद गायब हो गया था. उसने कहा कि उसका एक पिल्ला गायब है. महिला का कहना है कि यदि वो घर छोड़कर कहीं और जाती है तो उसके पालतू कुत्ते बेघर हो जाएँगे.


क्या है पर्दे के पीछे की कहानी का पूरा सच ?

महिला द्वारा लगातार पुलिस ‘निष्क्रियता’ का आरोप लगाने के बाद आज यानि कि सोमवार (जुलाई 27, 2020) को भारत के सबसे बड़े पशु कल्याण संगठन पीपुल्स फॉर एनिमल्स ने इंदौर पुलिस का एक वीडियो साझा किया. इसमें पुलिस के हवाले से कहा गया है कि, “उनकी प्राथमिक चिंता यह थी कि पशुपालक अपने पशुओं को क्षेत्र में चराने जाते थे, जिससे उनके कुत्तों को असुविधा होती थी. हमने अपने अधिकारियों को इस मुद्दे को हल करने का निर्देश दिया है.”


पूरे मामले पर इंदौर पुलिस का बयान

इंदौर पुलिस ने बताया कि शोभा राम के खिलाफ 9 मार्च को मामला दर्ज किया गया था. इंदौर पुलिस के अनुसार, उसकी शिकायत के आधार पर भारतीय दंड संहिता की धारा 112, 323, 506 के तहत एफआईआर दर्ज की गई थी. पुलिस ने कहा गया कि आरोपित को गिरफ्तार कर लेने के बावजूद महिला ने पुलिस के खिलाफ आधारहीन आरोप लगाया.




पुलिस ने खुलासा किया, “उसकी जान को कोई खतरा नहीं है. हमने पूछताछ के लिए आरोपित शोभा राम और सुरक्षा गार्ड रति राम को चौक पर बुलाया है. हमने उसके लापता पिल्ला के बारे में भी पूछताछ की है। पूच्तांच में पता चला है कि गार्ड कई अवसरों पर महिला के लिए पालतू जानवरों का सप्लाई करता था, लेकिन उसके नियोक्ताओं द्वारा ऐसा करने से रोक दिया गया था. जिसके कारण महिला ने उसे झूठे मामले में फँसाने की धमकी दी थी.”


‘पुलिस अधिकारी ने दावे के साथ बताया कि वायरल वीडियो में सहानुभूति बटोरने वाली महिला अपना नाम समय के साथ, बदल-बदल कर रहती आई है. उसका नाम साक्षी शर्मा नहीं बल्कि समरीन बानो है. वह मूल रूप से मेरठ की रहने वाली है. उसके खिलाफ नोएडा और दादरी सहित कई पुलिस स्टेशनों में मामले दर्ज हैं.’


‘पीपुल्स फॉर एनिमल्स’ नाम के संगठन ने महिला की बारे दी जानकारी

महिला का वीडियो वायरल होने के बाद, पीपुल्स फॉर एनिमल्स पीपुल के संगठन ने सोशल मीडिया पर जानकारी दी कि “महिला वास्तव में एक बहरूपिया है, जो विकलांग कुत्तों को शरण देने के नाम पर लोगों को ठगने की कोशिश कर रही है। पीपुल फॉर एनिमल्स ने ट्विटर पर भी बताया कि महिला धोखेबाज है। उसने पहले भी आवारा कुत्तों के नाम पर चंदा इकट्ठा किया है.”




पीएफए ने यह भी बताया कि महिला आवारा कुत्तों को सड़क से उठाती है, उनके साथ तस्वीरें क्लिक करती है और लोगों से दान के लिए अपील करती है. संगठन ने यह भी कहा कि उक्त महिला गोवा, पंजाब, दिल्ली, हैदराबाद और नोएडा में लोगों से बड़ी रकम वसूल चुकी है. इसके साथ ही संगठन ने यह भी दावा किया कि महिला अपने नाम बदल-बदल कर लोगों से धोखाधड़ी कर रही है.


पुलिस अधिकारी का दावा है कि वायरल वीडियो वाली साक्षी शर्मा (समरीन बानो) से मोहल्ले वाले बहुत दिनों से परेशान हैं. कुछ लोगों ने नाम गोपनीय रखने की शर्त पर पुलिस को बताया कि वह कुत्तों को मारती है, चिल्लाती और गाली बकती है. वहीं जब उसके कुत्ते खुले में घूमते हैं तो लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ता है. पुलिस अधिकारी का कहना है कि साक्षी उर्फ समरीन ने सोशल मीडिया पर अलग-अलग नाम से अकाउंट बनाए हैं जिनकी पड़ताल की जा रही है.


पुलिस ने बताया कि एक मकान मालिक नीतीश कुमार त्रिपाठी ने कुछ दिनों पहले समरीन के खिलाफ एरोड्रम थाना में 30 हजार रुपया किराया न देने की शिकायत की थी. जानकारी के मुताबिक मकान का किराया न देने की वजह से समरीन के खिलाफ कई पुलिस स्टेशनों में केस दर्ज है.

#FIR #Dog #IndoreMunicipalCorporation

#Indorenews #MadhyaPradeshPolice

#ViralVideo #News #MPPolice

ये भी पढ़ें: महाराष्ट्र के बुलढाणा जिले में लोनार झील "हेलोऑर्किया" रोगाणुओं के कारण गुलाबी हो गई.

ये भी पढ़ें: कानपुर मुठभेड़: हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे के आपराधिक जीवन का पूरा कच्चा चिट्ठा ये भी पढ़ें: कानपुर एनकाउंटर: विकास दुबे सहित 35 लोगों पर दर्ज हुई FIR, रात भर चली छापेमारी ये भी पढ़ें:बोत्सवाना में रहस्यमयी तरीके से सैकड़ों ‘हाथियों’ की मौत

0 views

©Newziya 2019, New Delhi.