• Newziya

इस्लामिक सहयोग संगठन को संबोधित करेंगी सुषमा स्वराज

ओआईसी यानी इस्लामिक सहयोग संगठन के विदेश मंत्रियों को संबोधित करने का निमंत्रण संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) ने भारत को दिया था. भारत ने इस आमंत्रण को सहर्ष स्वीकार करते हुए यूएई के नेतृत्व को धन्यवाद दिया. आगामी एक मार्च को विदेश मंत्री सुषमा स्वराज अबू धाबी में होने वाले इस सम्मेलन में हिस्सा लेंगी.


सांकेतिक तस्वीर ( साभार : इंटरनेट )

वेदेश मंत्रालय ने कहा, हम इस निमंत्रण को यूएई नेतृत्व की भारत के साथ द्विपक्षीय संबंधों से आगे बढ़कर बहुपक्षीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर बहुमुखी भागीदारी बनाने की मंशा के रूप में देखते हैं.

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ओआईसी के 46वें सत्र में विशिष्ट अतिथि के तौर पर शामिल होंगी. मंत्रालय ने अपने वक्तव्य में यह भी कहा कि यह निमंत्रण यूएई के साथ भारत के संबंधों में मील के पत्थर के समान है. देश में 18.5 करोड़ मुस्लिम आबादी की पहचान और बहुलवादी संस्कृति में उनके योगदान के साथ-साथ इस्लामिक दुनिया में भारत के योगदान की पहचान है.

सुषमा स्वराज को यह निमंत्रण यूएई के विदेश मंत्री शेख अब्दुल्ला बिन जायेद अल हयान ने ओआईसी के उद्घाटन सत्र को संबोधित करने के लिए दिया है. ओआईसी 56 सदस्यों के प्रतिनिधि और पांच पर्यवेक्षकों के दो दिन के सम्मेलन में हिस्सा लेने की संभावना है.

यह पहला मौका है जब इस्लामिक देशों के इस समूह ने भारत को अपने सम्मेलन में ‘पर्यवेक्षक’ के तौर पर आमंत्रित किया है. इससे भारत के बढ़ते कूटनीतिक प्रभाव के बारे में पता चलता है.

#uae #india #oic #sushmaswaraj

©Newziya 2019, New Delhi.