• Newziya

PM किसान सम्मान निधि योजना : 1 करोड़ किसानों की सम्मान राशि आज पहुंचेगी सीधे उनके खाते में

विश्वजीत मौर्य


योजना का शुभारंभ करते प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री आदित्यानाथ source : ANI

गोरखपुर में आज उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की उपस्थिति में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना की शुरुआत की



इस योजना के तहत देश के एक करोड़ से भी अधिक छोटे किसानों को तीन किश्तों में दो दो हजार रुपए दिए जाने हैं। जिसकी दो हज़ार रुपए की पहली किश्त आज किसानों के खाते में भेजी जाएगी। जिन्होंने अप्लाई किया है अगर आज उनके खाते में पैसे नहीं आते तो घबराएं नहीं, कृषि मंत्रालय के अधिकारियों ने मम्मी कसम खाकर कहा है कि एक दो दिन में बचे हुए किसानों के खाते में भी उनकी सम्मान राशि पहुंच जाएगी।

केन्द्र सरकार ने इस योजना की घोषणा वित्त वर्ष 2019-20 के अंतरिम बजट में की थी। इसमें 2 हेक्टेयर तक जुताई योग्य भूमि रखने वाले 12 करोड़ छोटे - सीमांत किसानों को सलाना 6,000 रुपए दिए जाएंगे।

इससे पहले प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट कर कहा था कि, "रविवार एक ऐतिहासिक दिन है! प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि की शुरुआत गोरखपुर से होगी. इस योजना से कड़ी मेहनत करने वाले करोड़ों भारतीय किसानों की आकांक्षाओं को पर लग जाएंगे, जो हमारे देश का पोषण करते हैं."


पीएम मोदी ने कहा कि "आज का दिन इतिहास में दर्ज़ होने जा रहा है। लाल बहादुर शास्त्री जी ने 'जय जवान जय किसान' का नारा दिया था। उसी मंत्र को इतने साल बाद किसान के घर तक, किसान के खेत तक, किसान की जेब तक पहुंचाने का काम हो रहा है। आज देश के 1 करोड़ 1 लाख किसानों के बैंक खातों में इस योजना की पहली किश्त ट्रांसफर करने का सौभाग्य मुझे मिला है। मुझे बताया गया है कि देश के 21 राज्यों-केंद्र शासित प्रदेशों के किसान इसमें शामिल हैं। इन किसानों को 2 हजार 21 करोड़ रुपए अभी ट्रांसफर किए गए हैं। आने वाले समय में 12 करोड़ किसानों के खाते में दो-दो हजार रूपये भेज दिए जाएंगे। और ये तो अभी शुरूआत है। इस योजना के तहत हर वर्ष लगभग 75 हज़ार करोड़ रुपए किसानों के खातों में सीधा पहुंचने वाले हैं। देश के वो 12 करोड़ छोटे किसान, जिनके पास 5 एकड़ या उससे कम भूमि है, उन्हें इसका लाभ मिलेगा।"

पीएम मोदी ने कहा कि "हमने किसानों की छोटी - छोटी दिक्कतों पर ध्यान देने के साथ ही उनकी चुनौतियों के सम्पूर्ण निवारण पर काम किया है। किसान पूरी तरह से सशक्त और सक्षम बने, इस लक्ष्य के साथ हम निकले हैं। जिन किसानों को आज पहली किश्त नहीं मिली है, उन्हें आने वाले हफ़्तों में पहली किश्त की राशि मिल जाएगी। किसान सम्मान योजना के तहत जो पैसे किसानों को दिए जाएंगे, वह केंद्र सरकार की तरफ़ से दिए जाएंगे। राज्य सरकारों को इस योजना का लाभ उठाने वाले किसानों की लिस्ट केंद्र सरकार को भेजनी है। कई राज्यों ने तो प्राथमिकता समझ कर लिस्ट हमें सौंपने का काम शुरू कर दिया है पर कुछ राज्य अभी भी इसे चुनाव की राजनीति समझ कर लिस्ट नहीं दे रहे। जो राज्य ऐसा नहीं करेंगे उन्हें किसानों का शाप लगेगा।"

उन्होंने कहा कि "आज ये देश की सबसे बड़ी योजना का शुभारंभ गोरखपुर की धरती से हो रहा है। आज यहां स्वास्थ्य, सड़क, रेल, रोजगार, गैस इन सब से जुड़ी दस हजार करोड़ की योजनाओं की शुरूआत की गई है। यह योजनाएं पुर्वांचल की धरती को सीधे सीधे प्रभावित करेगी। आज मैं देश के सभी किसानों को किसान योजना की बधाई देता हूं। करोड़ों पशुपालकों, दूध के व्यवसाय से जुड़े किसान परिवारों और मत्स्य पालन और उसके व्यवसाय से जुड़े बहन-भाइयों को भी किसान क्रेडिट कार्ड की सुविधा से जुड़ने के लिए बहुत-बहुत बधाई।"

©Newziya 2019, New Delhi.