• Newziya

पुलवामा हमले के बाद भारत कुछ बड़ा करने की सोच रहा है: डोनाल्ड ट्रम्प

Updated: Feb 24, 2019

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने शुक्रवार को कहा कि भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव काफी बढ़ गया है और पुलवामा आतंकवादी हमले के बाद भारत कुछ ठोस कार्यवाही कर सकता है.

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में 14 फरवरी को हुए आतंकवादी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हुए थे. पाकिस्तान में स्थित आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के आत्मघाती हमलावर ने विस्फोटक से लदे वाहन को सीआरपीएफ के जवानों से भरी से टक्कर मारकर हमले को अंजाम दिया था.


राष्ट्रपति ट्रम्प प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान

अमेरिका के नेतृत्व में अंतरराष्ट्रीय समुदाय ने पाकिस्तान पर दबाव डाला कि, वह अपनी जमीन को आतंकी समूहों की सुरक्षित पनाहगाह बनने से रोके और पुलवामा हमले के दोषियों के खिलाफ सख़्त कार्यवाही करे.

ट्रंप ने ओवल ऑफिस में पत्रकारों से कहा कि, इस समय भारत और पाकिस्तान के बीच हालात बेहद खराब हैं. यह बेहद खतरनाक स्थिति है. हम चाहेगें कि यह दुश्मनी ख़त्म हो जाए. काफी लोग मारे जा चुके हैं. हम इसे बंद होते देखना चाहते हैं. हम इस प्रक्रिया में काफी हद तक शामिल हैं.

ट्रंप ने कहा, भारत किसी ठोस निर्णय पर विचार कर रहा है. भारत ने हमले में अपने 40 लोगों को खोया है. मैं भी इस बात को समझ सकता हूं और हमारा प्रशासन दोनों देशों के अधिकारियों से बातचीत कर रहा है.

ट्रंप ने कहा, "पाकिस्तान को 1.3 अरब अमेरिकी डॉलर की सहायता राशि का भुगतान करना बंद कर दिया गया है. जो हम उसे दिया करते थे क्योंकि वो उस तरह से हमारी मदद नहीं कर रहा था जैसी उसे करनी चाहिए थी. पाकिस्तान ने अन्य अमेरिकी राष्ट्रपतियों के शासनकाल में अमेरिका का बहुत फायदा उठाया है. हम पाकिस्तान के साथ कुछ बैठकें कर सकते हैं.

गौरतलब है कि भारत ने पुलवामा हमले के बाद पाकिस्तान को दिया 'सबसे तरजीही देश' का दर्जा छीन लिया और पाकिस्तान में बनीं वस्तुओं पर सीमा शुल्क 200 फीसदी तक बढ़ा दिया है.

©Newziya 2019, New Delhi.